Crime against Women & Beti Bachao

Featured


19/10/2012 04:00PM Speaker Hall, Constitution Club of India

Delhi & Haryana- griped with Endemic Sexual Violence: Jolly Women leaders concerned on Surging Violence against Women & Declining Sex Ratio in India New Delhi, 20th Oct 2012: Delhi Study Group led by President & Ex. MLA Delhi Mr. Vijay Jolly today organized a poetic & movie presentation at a public program on “Crime against Women & Beti Bacho” at Constitution Club, Rafi Marg, New Delhi. At the over crowded program, prominent social worker & Chairperson Varishth Nagrik Kesari Club Smt. Kiran Chopra, public servant Rashmi Singh, LSR college Asst. Prof. Dr. Vartika Nanda, Addl. DCP Crime against Women Suman Nalwa, Dr. Sudha Upadhyaya Senior Prof. Hindi Deptt. Janaki Devi College and noted Rajasthan Poetess Smt. Raisa Jilani participated. A movie titled “Nanakpura Kuchh Nahin Bhulta” directed by Dr. Vartika Nanda & Arjun Pandey on crime against women was also exhibited. DSG President Mr. Vijay Jolly along with noted Social activist Kiran Chopra & Dr. Vartika Nanda expressed concern over rising crime against women in Delhi & Haryana & declining sex ratio in India. Delhi & Haryana has endemic sexual violence. There is a surging wave of violence against women in Delhi & neighboring Haryana state. Who will stop this? questioned Mr. Jolly. Women are unsafe in Delhi & Haryana. Last year Delhi reported cases of rape 414, abductions 1,422 and 550 molestations. Delhi accounts for 20% of such crimes in India. Moving cars in Delhi have rapes while Police claims that Delhi is one of the best patrolled city. The Chairperson of ruling party in India is a women, Speaker of Lok Sabha is a women, Chief Minister of Delhi is a women and yet there is rising crime against women in Delhi lamented Delhi Study Group President Mr. Jolly. Smt. Kiran Chopra, Suman Nalwa, Rashmi Singh, Dr. Sudha Upadhyaya & Poetess Raisa Jilani unanimously stated that ‘Beti Bachao Abhiyan’ is a necessity in India. India is having a gender imbalance since the sex ratio for children under the age of six is 914 girls to 1000 boys according to 2011 census data. The female number are registering a decline since 2001 stated Mr. Jolly. This all leads to smaller families, human trafficking, bride sales, young men likely to engage in violent behavior, spike in crimes and public disorder. The need of the hour is that all sections of Indian society should participate in beti bachao campaign in order to improve gender ratio in India. The program was attended by Doctors, Engineers, Architects, Lawyers, Ex- Defence Personnel, Educationists, Artists, Chartered Accountants, Journalists, Diplomats, Industrialists, Students, Bureaucrat & Professors in large numbers. ================================== दिल्ली व हरियाणा - स्थानीय यौन हिंसा से ग्रस्त: जौली महिला नेत्रियों ने स्त्रियों पर बढ़ती हिंसा व असंतुलित लिंग अनुपात पर चिंता जताई नई दिल्ली, 20 अक्टूबर, 2012: दिल्ली स्ट्डी ग्रुप अध्यक्ष व पूर्व दिल्ली विधायक विजय जौली के नेतृत्व में एक काव्य तथा फिल्म की प्रस्तुति द्वारा ‘‘महिलाओं के खिलाफ अपराध व बेटी बचाओ’’ विषय पर कन्स्टीट्यूशन क्लब रफी मार्ग, नई दिल्ली में एक सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। खचाखच भरे इस कार्यक्रम में प्रसिद्ध समाजसेविका व वरिष्ठ नागरिक केसरी क्लब की अध्यक्षा किरण चैपड़ा, लोकसेविका रश्मि सिंह, लेडी श्रीराम काॅलेज की सहायक प्रोफेसर, डा0 वर्तिका नंदा, महिलाओं के खिलाफ अपराध शाखा की अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त सुमन नलवा, जानकी देवी काॅलेज के हिन्दी विभाग की सहायक प्रोफेसर डा. सुधा उपाध्याय व राजस्थान की प्रसिद्ध कवयित्री रहीसा जिलानी ने कार्यक्रम में भाग लिया। इस अवसर पर ‘‘नानकपुरा कुछ नहीं भूलता’’ डा. वर्तिका नंदा व अर्जून पाण्डेय द्वारा निर्देशित फिल्म भी दिखाई गई। दिल्ली स्ट्डी ग्रुप अध्यक्ष श्री विजय जौली तथा विख्यात महिला नेत्री किरण चैपड़ा व डा. वर्तिका नंदा ने दिल्ली व हरियाणा में महिलाओं पर बढ़ते अपराध तथा भारत में असंतुलित लिंग अनुपात के मुद्दे पर अपनी चिन्ता व्यक्त की। दिल्ली व हरियाणा में महिलाओं के खिलाफ हिंसा की बढ़ती लहर है। इसे कौन रोकेगा ? चिंतित विजय जौली ने पूॅछा। महिलाएं दिल्ली व हरियाणा में असुरक्षित हैं। दिल्ली में पिछले वर्ष बलात्कार के 414, अपहरण के 1422 व छेड़छाड़ के 550 मामले दर्ज हुए थे। भारत में ऐसे बढ़ते कूल अपराधों में दिल्ली की 20ः की भागीदारी है। दिल्ली में कारों के अंदर बलात्कार की घटनाएं होती हैं। लेकिन पुलिस दिल्ली में बेहतर गश्त का दावा करती है। स्ट्डी ग्रुप अध्यक्ष श्री जौली ने बताया कि भारत में सत्तारूढ़ पार्टी की अध्यक्षा महिला हैं। लोकसभा अध्यक्षा महिला हैं। दिल्ली की मुख्यमंत्री महिला हैं। इसके बावजूद महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। श्रीमती किरण चैपड़ा, सुमन नलवा, रश्मि सिंह, डा. सुधा उपाध्याय व कवयित्री रायसा जिलानी ने सर्वसम्मति से कहा कि भारत में ‘‘बेटी बचाओ’’ अभियान अपनाना बहुत आवश्यक है। देश लिंग अनुपात की गम्भीर समस्या से जूझ रहा है। वर्ष 2001 की जनगणना के आॅकड़ों के अनुसार 6 वर्ष के बच्चों में 1000 लड़कों की तुलना में 914 लड़कियाॅ रह गई हैं। तथा वर्ष 2001 से लगातार महिलाओं की संख्या में गिरावट दर्ज हुई है। श्री जौली ने कहा कि इन कारणों से समाज में छोटे परिवार, मानव तस्करी, लड़कियों की खरीद-फरोख्त के साथ युवाओ में हिंसा की प्रवृत्ति व समाज में अपराध पनप रहे हैं। इस लिए समय की माॅग है कि भारतीय समाज के सभी वर्ग एकजूट होकर ‘‘बेटी बचाओं’’ अभियान को जोर-शोर से चलाएं। तथा जिससे भारत में लिंग अनुपात में सुधार हो सके। इस कार्यक्रम में विशेष रूप से डाक्टर, इंजिनियर, अर्किटेक्ट, अधिवक्ता, पूर्व रक्षाकर्मी, शिक्षाविद्, कलाकार, चार्टर्ड एकाउंटेन्ट, पत्रकार, राजनयिक, उद्योगपति, छात्र नेता, नौकरशाहों ने बड़ी संख्या में बढ़-चढ़ कर भाग लिया।

Related Clips

A generic square placeholder image with rounded corners in a figure.
A generic square placeholder image with rounded corners in a figure.